दुनिया में टॉप 10 सबसे लंबी ट्रेन

इसमें हम दुनिया सबसे टॉप 10 ट्रैन के बारे में बता रहे हैं।  इस लिस्ट में सबसे लंबी ट्रेनों की सूची है। अपने ट्रैन में सफर किया होगा तो आपको 5,6,7 ऐसे बोगियों के नंबर मीले होंगे लेकिन आपने कभी 90, 96 ऐसे बोगियां देखी या सुनी नही होगी। इस टॉप 10 में हमने आपको दुनिया की सबसे लंबी ट्रेनों के बारे में बताया है अपने कभी सुनी नही होगी तो चलो हम इन ट्रेनों के बारे में जानते हैं।

1.BHP बिलिटन लौह अयस्क ट्रेन, ऑस्ट्रेलिया

BHP बिलिटन लौह अयस्क ट्रेन, ऑस्ट्रेलिया

फ्रेंड्स ये टॉप 10 की लिस्ट की सबसे लंबी ट्रेन हैं। इस ट्रेन की लंबाई 7300 मीटर है। इस ट्रेन ने 2001 मे सबसे भारी ट्रेन का रेकॉर्ड बनाया। 682 बोगियां इस ट्रेन से जुड़ी हुई हैं और इसमें 82000 टन का वजन रखा गया हैं। इस ट्रेन को पोर्ट हॉलैंड में चलाया जाता था। ये दुनिया की सबसे बड़ी ट्रेन थी।

2.डबल स्टैक कंटेनर ट्रेनें, कनाडा

डबल स्टैक कंटेनर ट्रेनें, कनाडा

डबल स्टैक कंटेनर ये ट्रेन कनाडा में 1990 में कनाडा के सरकार द्वारा शुरू की गई थी। ये ट्रेन 1500 मीटर लंबी थी बाद में इसे 4000 मीटर लंबा कर दिया गया। ये ट्रेन 18000 टन का माल ले जा सकती है। इस ट्रेन के ग्रुप में 3000 से 37004000 मीटर तक कि ट्रेने हैं। इस ग्रुप में 4200 ज्यादा लंबी ट्रैन शामिल हैं।

3.आरडीपी ट्रेनें, दक्षिण अफ्रीका

आरडीपी ट्रेनें, दक्षिण अफ्रीका

ये ट्रेन दुनिया की तीसरी सबसे लंबी ट्रेन हैं। एक्सपोर्ट लाइन पे चलनी वाली ट्रेन की लंबाई 3780 मीटर हैं। ये दक्षिण अफ्रीका की जीवनरेखा है। इस ट्रेन में 210 से अधिक बोगी हैं। वो ट्रेन 17 से 18 टन तक का सामान ले जा सकती है। इन ट्रेनों की गति 70-80 किलोमीटर प्रति घंटा हैं और ये 30-40 प्रति घंटे की रफ्तार से चलती है।

4.एएआर मानक -400, यूएसए

एएआर मानक -400, यूएसए

ये ट्रेन 3659 मीटर लंबी हैं। ये ट्रेन 180 बोगियों के साथ चलती है।  इन ट्रेनों को यूएसए की लाइफलाइन कहा जाता हैं। अगर ट्रेने नहीं होती तो पूरा यूएस सिस्टीम भ्रमित हो सकता हैं। इस ट्रेन से अमेरिका के सरकार को 60 बिलियन का लाभ होता है। इस ट्रेन की गति 30 किलोमीटर प्रति घंटा है। इस ट्रेन को अधिक गति से चलाना बेहद खतरनाक साबित हो सकता हैं।

5.कजारस रेलवे फ्रेट ट्रेनें, ब्राजील

कजारस रेलवे फ्रेट ट्रेनें, ब्राजील

ये ट्रैन 1982 में चालू हुई जो 3200 मीटर लंबी हैं। इस ट्रैन में 330 बोगियां हैं। इस ट्रेन पर 20000 टन से अधिक भारी लोहा ले जा सकता हैं। एक समय मे 3 से 4 हजार तक सफर करने वाले यात्री होते हैं। नियमित संचालन के लिए ये इस दुनिया की सबसे बड़ी ट्रैन हैं। इस ट्रेन की गति 30-40 किलोमीटर प्रति घंटा है।

6.डैकिन रेलवे कोल ट्रेनें, चीन

डैकिन रेलवे कोल ट्रेनें, चीन

इस ट्रैन की कुल लंबाई 3200 मीटर हैं। ये ट्रेन एक बार में 210 बोगियां ले जाती हैं। इसका भर 20000 मीट्रिक टन तक होता हैं। ये ट्रैन कहि बार अधिक कोयला ले जाती हैं। इस ट्रेन में उँचे तकनीक का इंजन होता हैं जो 70-80 किलोमीटर प्रति घंटा की गति देता हैं।

7.मॉरिटानिया रेलवे लौह अयस्क ट्रेनें, मॉरिटानिया

मॉरिटानिया रेलवे लौह अयस्क ट्रेनें, मॉरिटानिया

मोरीटानिया में चलने वाली इस ट्रैन की लंबाई 2500 मीटर से अधिक की हैं। ये ट्रेन एक बार मे 85 तन का वजन ले जा सकती हैं। इस ट्रैन मे एक बार मे 200 ते 210  तक कि बोगियां लगाई जा सकती हैं। ये ट्रेन जौरेट से नौआधीबौ तक चलती  हैं जो की 704 किलोमीटर तक कि दूरी तय करता हैं। आपको ये जानकर हैरानी होगी कि ये ट्रैन एक साल में 16 मिलियन तक का माल ले जा सकती हैं।

 

8.रियो टिंटो रेलवे सर्विसेज, ऑस्ट्रेलिया

रियो टिंटो रेलवे सर्विसेज, ऑस्ट्रेलिया

ये ट्रेन ऑस्ट्रेलिया की है। इसकी कुल लंबाई 2400 मीटर अधिक लंबी हैं। ये ट्रेन 30 हजार टन से अधिक समान ले जा सकती हैं। ये ट्रैन एक बार मे किमी की दूरी तय करती हैं। इस ट्रेन में 226 बोगियां हैं। ऑस्ट्रेलिया से ट्रेन खानों के लिए जीवन रेखा का काम करती हैं।

 

9.मारुति फ्रेट ट्रेन, भारत

मारुति फ्रेट ट्रेन, भारत

इस ट्रेन को भारतीय रेलवे ने 2010 में लांच किया था। इस ट्रेन की लंबाई 1400 मीटर अधिक लंबी हैं। बिलासपुर से भुसावल तक ये ट्रैन चलती हैं। ये ट्रैन 9 से 10 हजार टन तक का माल ले जा सकती हैं। इस ट्रेन को दक्षिण पूर्व की सबसे बड़ी ट्रैन का खिताब है। इस ट्रेन को चलाने के लिए फ्रंट और मिडिल ऐसे 2 प्लेस ड्राइवर कैबेन बनाये गए हैं। ये ट्रेन 50 किलोमीटर प्रति घंटे से चलती हैं।

 

10. घन, ऑस्ट्रेलिया

द घन, ऑस्ट्रेलिया

ऑस्ट्रेलिया में चलने वाली घन की लंबाई कुल 1200 मीटर अधिक लंबी है। ये हमारे लिस्ट की एकमात्र यात्री ट्रेन है। ये ट्रैन 16-20 बोगियां के साथ चलती हैं लेकिन एक बार में ये ट्रैन 96 से अधिक बोगियां खीच सकती हैं। ये ट्रैन एडीलेट से डार्विन तक जाती हैं जो 2979 किलोमीटर हैं। इस ट्रेन का कुल सफर 54 घंटो का है  और इसकी गति 50 किलोमीटर प्रति घंटा हैं। आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि इस ट्रेन का नाम एक अफगान ऊंट चालक के नाम पर रखा गया था।









Post a Comment

0 Comments